नया अंक : वर्ष 7, अंक 23

होमनया अंकनया अंक : वर्ष 7, अंक 23

सदानीरा : अंक 23 | वर्ष 7

क्रम ::
शरद 2019
आ लो क

आवरण
सावलाराम लक्ष्मण हलदणकर

आवरण-कथा
मोनिका कुमार

आवरण और दूसरी तस्वीरें
सावलाराम लक्ष्मण हलदणकर

स्मरण
टोनी मॉरीसन
अनुवाद और प्रस्तुति : सरिता शर्मा

इस्टोनियन कविता
डोरिस कारेवा
अँग्रेज़ी से अनुवाद : रुस्तम

अँग्रेज़ी कविता
डब्ल्यू. एस. मर्विन
अनुवाद और प्रस्तुति : रीनू तलवाड़
सारा टीसडेल
अनुवाद : अनुराधा अनन्या
नाओमी शिहाब नाइ
अनुवाद : पल्लवी व्यास

स्वीडिश कविता
इडिथ सदरग्रान
अँग्रेज़ी से अनुवाद : प्रचण्ड प्रवीर

अरबी कविता
दुन्या मिखाइल
अँग्रेज़ी से अनुवाद : राहुल तोमर

अफ़ग़ानी कविता
ज़ाहिदा ग़नी
नफ़ीसा अज़हर
नूज़र इल्यास
अनुवाद और प्रस्तुति : नीता पोरवाल

उद्धरण
होर्हे लुई बोर्हेस
अँग्रेज़ी से अनुवाद : आदित्य शुक्ल
मिलान कुंदेरा
अँग्रेज़ी से अनुवाद : सरिता शर्मा

बातें
कुमार बोस से व्योमेश शुक्ल

राजस्थानी कविता
अम्बिका दत्त

उर्दू कविता
शारिक़ कैफ़ी

सफ़र
मनीषा जोषी

हिंदी कविता
अखिलेश सिंह
अमन त्रिपाठी
सुघोष मिश्र
उत्कर्ष

सौ शब्द
अविनाश मिश्र

प्राप्त करें

सदानीराhttps://sadaneera.com/
हिंदी के सुनसान में घमासान की एक दुनिया हम खड़ी कर रहे हैं। हम न संस्थान हैं, न प्रतिष्ठान... हमें सहयोग करने के लिए डोनेट करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखरुलाई
अगला लेख‘मैं एक भँवर में हूँ’

अन्य संबंधित लेख